शनिवार, 24 अप्रैल 2010

मैं भी चाहूँ देश के कुछ काम आना

मैं भी चाहूँ देश के  कुछ काम आना
पर लगे के हर कदम रोके ज़माना   

जिस तरह वीरों ने प्राणों की बलि दी
मर मिटूँ मैं भी यही दिल से लगे की
मैं भी बन जाऊ उन सा किस्सा पुराना
मेरे प्यारों याद कर फिर से जिलाना
मैं भी चाहूँ..............

याद आते हैं भगत,ज़स्वंत,विश्मिल 
चंद्रशेखर और मंगल जी गले मिल
 चढ गये सूली पे बस गाके तराना
मेरे यारों मा के आंचल को बचाना
मैं भी चाहूँ..............

ओ मेरे प्‍यारे वतन के लाडलों
देश भक्ति का वही जज्‍बा मुझे दो
तुम गये आया वही फिर से जमाना
देश का दुश्‍मन नहीं है वो पुराना
मैं भी चाहूँ..............

लूट के धन शक्ति की पहने है माला
और कहते हैं के ये है मेरी माया
देश की बनके बहन लूटे इसी को
और पूंछे क्‍या दिया है इसने हमको
अब न चल पायेगा इनका ये बहाना
देश की इज्‍जत बचाने को है ठाना
चाहिये बस कोर्इ इक साथी पुराना
जो मिलाये स्‍वर से स्‍वर गाये ये गाना

मैं भी चाहूँ..............

11 टिप्‍पणियां:

आनन्‍द पाण्‍डेय ने कहा…

waah kya khoob likha hai

blog jagat me aapka swaagat hai

sundar lekhan ke liye shubhkaamnaayen

संजय भास्कर ने कहा…

हर शब्‍द में गहराई, बहुत ही बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

dr vikastomar ने कहा…

chittha jagat me swagat hai aapka

bahaut achha likha aapne likhte rahe
khush rahe... aabad rahe

राकेश कौशिक ने कहा…

सार्थक प्रस्तुति - हार्दिक शुभकामनाएं

क्रिएटिव मंच-Creative Manch ने कहा…

"ओ मेरे प्‍यारे वतन के लाडलों
देश भक्ति का वही जज्‍बा मुझे दो
तुम गये आया वही फिर से जमाना
देश का दुश्‍मन नहीं है वो पुराना"

bahut sundar
desh bhakti kee alakh jalaati badhiya post
aasha hai aage bhi aisi hi ojashvi rachnaayen padhne ko milengi

shubh kamnayen

E-Guru Rajeev (ई-गुरु राजीव) ने कहा…

हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

शुभकामनाएं !


"टेक टब" - ( आओ सीखें ब्लॉग बनाना, सजाना और ब्लॉग से कमाना )

E-Guru Rajeev (ई-गुरु राजीव) ने कहा…

आपका लेख पढ़कर हम और अन्य ब्लॉगर्स बार-बार तारीफ़ करना चाहेंगे पर ये वर्ड वेरिफिकेशन (Word Verification) बीच में दीवार बन जाता है.
आप यदि इसे कृपा करके हटा दें, तो हमारे लिए आपकी तारीफ़ करना आसान हो जायेगा.
इसके लिए आप अपने ब्लॉग के डैशबोर्ड (dashboard) में जाएँ, फ़िर settings, फ़िर comments, फ़िर { Show word verification for comments? } नीचे से तीसरा प्रश्न है ,
उसमें 'yes' पर tick है, उसे आप 'no' कर दें और नीचे का लाल बटन 'save settings' क्लिक कर दें. बस काम हो गया.
आप भी न, एकदम्मे स्मार्ट हो.
और भी खेल-तमाशे सीखें सिर्फ़ "टेक टब" (Tek Tub) पर.
यदि फ़िर भी कोई समस्या हो तो यह लेख देखें -


वर्ड वेरिफिकेशन क्या है और कैसे हटायें ?

Sanjeet Tripathi ने कहा…

swagat hai

अजय कुमार ने कहा…

हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

Dimpal Maheshwari ने कहा…

आप हिंदी में लिखते हैं। अच्छा लगता है। मेरी शुभकामनाएँ आपके साथ हैं..........हिंदी ब्लॉग जगत में आपका स्वागत हैं.....बधाई स्वीकार करें.....हमारे ब्लॉग पर आकर अपने विचार प्रस्तुत करें.....|

Dimpal Maheshwari ने कहा…

आप हिंदी में लिखते हैं। अच्छा लगता है। मेरी शुभकामनाएँ आपके साथ हैं..........हिंदी ब्लॉग जगत में आपका स्वागत हैं.....बधाई स्वीकार करें.....हमारे ब्लॉग पर आकर अपने विचार प्रस्तुत करें.....|

The Daily Puppy